Macavity-The-Mystery-Cat-Summary-by-T.S.-Eliot, 5-Marks Summary

Macavity: The Mystery Cat Summary

Description

Based PatternBihar Board, Patna
Class12th
StreamArts (I.A.), Commerce (I.Com) & Science (I.Sc)
SubjectEnglish (100 Marks)
BookRainbow-XII | Part- II
TypeSummary
LessonPoetry-7 | Macavity: The Mystery Cat
Summary TypeShort Summary | 5-Marks
PriceFree of Cost
ScriptIn English & Hindi
Available OnBulls Eye Eng App | Free 100 %
Published OnJolly Lifestyle World
Macavity: The Mystery Cat Summary by T.S. Eliot

Macavity: The Mystery Cat Summary

In English
Macavity: The Mystery Cat Summary by T.S. Eliot

Macavity: The Mystery Cat” is a remarkable light poem. In the form of mock-heroic vein composed by a great modern poet and critic T.S. Eliot. Macavity is the name of the poet’s own tame cat. The poet describes that mischievous tame clever cat in a mock-heroic way.

Macavity knows a thousand and one tricks to commit a crime. It commits many crimes and flees and It acts as if it were a master criminal. It never leaves behind any clue of its crime.

So, it is never caught red-handed. It goes everywhere but nobody knows its activity. It cheats as cards to everyone.

According to the poet, it is very clever, tall and thin with sunken eyes. Its head is highly domed and its whiskers are uncombed. The colour of its body is dusty. It moves like a snake and seems that it is asleep but it is always awake.

It is a devil in the form of a cat. It’s crime area is very broad. Wherever it goes, it tries to steal something such as drinking milk stealthily, stealing meat away from the meat safe, stealing jewels, fills with important treaties, killing chickens, breaking glasses and runs away.

Really no place is safe from that smart Macavity. It is a mysterious cat. All of its actions are mysterious. It is never caught at the place of occurrence. It attracts all. The poet himself draws towards that mysterious cat. The poet thinks that no other cat can be like Macavity.

मेकाविटी: एक रहस्यमय बिल्ली सारांश

हिंदी में

Macavity: द मिस्ट्री कैट” एक उल्लेखनीय प्रकाश कविता है। एक महान आधुनिक कवि और आलोचक टी. एस. इलियट द्वारा रचित नकली-वीर शिरा के रूप में। Macavity कवि की अपनी पालतू बिलार/बिल्ली का नाम है। कवि उस शरारती पालतू बिलार के बारे में मजाकिये अंदाज में वर्णन करते है।

यह एक अपराध करने के लिए हजारों चाल जानता है। यह कई अपराध करता है और भाग जाता है। यह ऐसा काम करता है कि मानों वह अपराध में माहिर हो। वह अपने अपराध के पीछे किसी तरह का सुराग नहीं छोड़ता है।

इसलिए, वह कभी भी किसी के द्वारा रंगे हाथ नहीं पकड़ा जाता है। यह हर जगह जाता है लेकिन किसी को भी इसकी गतिविधि का पता नहीं चलता है। यह सभी को ताश के पत्तों के भाती ठगता है।

कवि के अनुसार, मेकाविटी बहुत ही चलाक, लम्बा, दुबला और धँसे हुए आँख वाला है। इसका सर अत्यधिक गुंबददार और इसकी मूंछें बिखरें हुए हैं। इसके शरीर का रंग धूलिया है। यह सांप की भाँति चलता है। ऐसा लगता है कि यह सो रहा है लेकिन यह हमेशा जगा हुआ होता है।

यह एक बिलार के रूप में एक शैतान है। इसका अपराध क्षेत्र बहुत ही व्यापक है। जहाँ कहीं भी जाता है वह चोरी-छिपे दूध पीने, मांस को सुरक्षित रखने वाले अलमिरा से मांस को चुराने, आभूषणों को चुराने, महत्वपूर्ण संधियों को भरने, मुर्गियों को मारने, कांच तोड़ने और भाग जाने जैसे कुछ करने की कोशिश करता है।

वास्तव में कोई भी जगह उस स्मार्ट Macavity से सुरक्षित नहीं है। यह एक रहस्यमयी बिलार है। इसके सभी कार्य रहस्यमय हैं। यह घटना की जगह पर कभी नहीं पकड़ा जाता है। यह सभी को आकर्षित करता है। वें स्वयं उसकी ओर आकर्षित हो जाते है। कवि सोचते है कि कोई भी Macavity की तरह नहीं हो सकता हैं |


Quick Links

5-Marks Summary

You may like this

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *